22 नवंबर 2020 का पंचांग, शुभ मुहूर्त, राहु काल, दिशाशूल, चौघड़िया सहित संपूर्ण ग्रह विचार गुरुदेव मनीष साईं जी के अनुसार


रविवार का पंचांग
दिनांक : 22 नवम्बर 2020

आज का पंचांग

सूर्योदय का समय : प्रातः 06:49
सूर्यास्त का समय : सायं 05:25

चंद्रोदय का समय : दोपहर 01:12
चंद्रास्त का समय : रात्रि 12:28

तिथि संवत :-

दिनांक - 22 नवम्बर 2020

मास - कार्तिक

पक्ष - शुक्ल पक्ष

तिथि - अष्टमी रविवार रात्रि 10:51 तक रहेगी

अयन - सूर्य दक्षिणायन

ऋतु - हेमन्त ऋतु

विक्रम संवत - 2077

शाके संवत - 1942

सूर्यादय कालीन नक्षत्र :-

नक्षत्र - धनिष्ठा नक्षत्र प्रातः 11:10 तक रहेगा इसके बाद शतभिषा नक्षत्र रहेगा

योग - व्याघात योग रात्रि बाद प्रातः 05:52 तक रहेगा इसके बाद हर्षण योग रहेगा

करण - विष्टि करण प्रातः 10:14 तक रहेगा इसके बाद बव करण रहेगा

ग्रह विचार :-

सूर्यग्रह - वृश्चिक

चंद्रग्रह - कुम्भ

मंगलग्रह - मीन

बुधग्रह - तुला

गुरूग्रह - मकर

शुक्रग्रह - तुला

शनिग्रह - मकर

राहु - वृष

केतु - वृश्चिक, राशि में स्थित है

* शुभ समय *

अभिजित मुहूर्त :-

प्रातः 11:46 से 12:28 तक रहेगा

विजय मुहूर्त :-

दोपहर 01:53 से 02:36 तक रहेगा

गोधूलि मुहूर्त :-

सायं 05:14 से 05:38 तक रहेगा

निशिता मुहूर्त :-

रात्रि 11:41 से 12:34 तक रहेगा

ब्रह्म मुहूर्त :-

प्रातः 05:03 (23 नवम्बर) से 05:57 तक रहेगा

* अशुभ समय *

राहुकाल :-

सायं 04:06 से 05:25 तक रहेगा

गुलिक काल :-

दोपहर 02:46 से 04:06 तक रहेगा

यमगण्ड :-

दोपहर 12:07 से 01:27 तक रहेगा

दूमुहूर्त :-

सायं 04:00 से 04:43 तक रहेगा

वर्ज्य :-

सायं 06:56 से 08:40 तक रहेगा

भद्रा :-

प्रातः 06:49 से 10:14 तक रहेगा

पञ्चक :-

संपूर्ण दिन तक रहेगा

दिशाशूल :-

पश्चिम दिशा की तरफ रहेगा यदि जरुरी हो तो चॉकलेट खाकर यात्रा कर सकते है

चौघड़िया मुहूर्त :-

दिन का चौघड़िया

प्रातः 06:49 से 08:09 तक उद्वेग का

प्रातः 08:09 से 09:28 तक चर का

प्रातः 09:28 से 10:48 तक लाभ का

प्रातः 10:48 से 12:07 तक अमृत का

दोपहर 12:07 से 01:27 तक काल का

दोपहर 01:27 से 02:46 तक शुभ का

दोपहर बाद 02:46 से 04:06 तक रोग का

सायं 04:06 से 05:25 तक उद्वेग का चौघड़िया रहेगा

रात का चौघड़िया

सायं 05:25 से 07:06 तक शुभ का

रात्रि 07:06 से 08:46 तक अमृत का

रात्रि 08:46 से 10:27 तक चर का

रात्रि 10:27 से 12:08 तक रोग का

अधोरात्रि 12:08 से 01:48 तक काल का

रात्रि 01:48 से 03:29 तक लाभ का

प्रातः (कल) 03:29 से 05:10 तक उद्वेग का

प्रातः (कल) 05:10 से 06:50 तक शुभ का चौघड़िया रहेगा



Comments

CAPTCHA code

User's Comment