भगवान वराह की पूजा से धन, स्वास्थ्य और सुख की प्राप्ति होती है- गुरु मनीष साईं

भगवान श्री विष्णु जी के अवतार भगवान श्री वराह जी की जयंती के पावन अवसर पर समस्त देश व प्रदेशवासियों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं।

जानिए वराह जयंती से संबंधित संपूर्ण जानकारी..

भगवान वराह की पूजा से धन, स्वास्थ्य और सुख की प्राप्ति होती है-

हिंदू धर्मग्रंथों के अनुसार भाद्रपद मास की शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को भगवान विष्णु के तीसरे अवतार वराह अवतरित हुए थे। ऐसे में हिंदू कैलेंडर के हर वर्ष में भादो मास की शुक्ल पक्ष की तृतीया को वराह जयंती के रूप में दर्शाया जाता है। वहीं यह दिन हिंदू धर्मावलंबियों के लिए काफी महत्व रखता है। ऐसे में इस बार भाद्रपद मास की शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार आज 09 सितंबर को पड़ रही है, जिस दिन वराह जयंती मनाई जाएगी।

आध्यात्मिक गुरु मनीष साईं जी के अनुसार के अनुसार वराह भगवान विष्णु के तीसरे अवतार थे। वराह अवतार में भगवान विष्णु आधे-सुअर और आधे इंसान के रूप में अवतरित हुए थे। वराह भगवान का व्रत कल्याणकारी माना जाता है, मान्यता है कि जो भक्त वराह भगवान के नाम से व्रत रखते हैं, उनका सोया भाग्य जाग उठता है।

lord_vishnu_varaha_avatar
वहीं ये भी माना जाता है कि भगवान वराह की पूजा से धन, स्वास्थ्य और सुख की प्राप्ति होती है। हिन्दू पौराणिक कथाओं के अनुसार भगवान विष्णु के वराह अवतार ने बुराई पर विजय प्राप्त करते हुए हिरण्याक्ष का वध किया था। ऐसे में भक्त अपने जीवन की सारी बुराइयों को समाप्त करने के लिए वराह देव की पूजा करते हैं।

भगवान विष्णु ने इसलिए लिया वराह अवतार

कथा के अनुसार एक बार पृथ्वी को दैत्य हिरण्याक्ष ने समुद्र में छिपा दिया था। इस पर सभी देवताओं ने पृथ्वी को ढूंढने का प्रयास किया, लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिली। तो उन्होंने भगवान विष्णु से इसके लिए विनती की।

वहीं इससे पहले हिरण्याक्ष ने भगवान ब्रह्मा की साधना की और किसी से पराजित ना होने का वरदान प्राप्त कर लिया। इस पर वरुण देव ने उससे कहा की भगवान विष्णु संसार के संरक्षक हैं और वो उन्हें पराजित नही कर सकता। इतना सुनते ही हिरण्याक्ष भगवान विष्णु की खोज में निकला।

#भगवान_वराह #varaha #Manishsai #gurumanishsai #LordVishnu #avatarvarahadevjayanti

Comments

CAPTCHA code

User's Comment