बहु विवाह योग के कारण वैवाहिक रिश्ते ज्यादा नहीं चलते -मनीष साईं

बहु विवाह योग के कारण वैवाहिक रिश्ते ज्यादा नहीं चलते -मनीष साईं

आपने देखा होगा कि कई व्यक्तियों के रिलेशन स्थाई नहीं हो पाते वैवाहिक जीवन भी ज्यादा दिन नहीं चलता एक के बाद एक शादियां टूटती है।ज्योतिष शास्त्र मैं इसका स्पष्ट उल्लेख है ऐसा क्यों होता है उसके कारण क्या है? यह जानना बहुत जरूरी है। ज्योतिष वास्तु एवं तंत्र गुरु श्री मनीष साईं जी के अनुसार आइए जानते हैं बहु विवाह योग कैसे बनता है और उससे बचने के उपाय क्या हैं।

▪चन्द्र एवं शुक्र बलि होकर किसी भी भाव में एकसाथ स्थित हो तो ऐसे जातक के बहुत पत्नियाँ होगी।

▪लग्नेश उच्च अथवा स्वराशीगत केंद्र भावों में स्थित हो तो ऐसे जातक के बहुत विवाह होते है।

▪ लग्न में एक ग्रह उच्च राशी में स्थित हो तो भी ऐसे जातक से बहुत विवाह होते है।

▪ लग्नेश और चतुर्थ भाव का अधिपति केन्द्रीय भावों में स्थित हो तो भी ऐसे जातक के बहुत से विवाह होते है।

▪ शनि सप्तमेश हो तथा वह पापग्रह से युत हो तो ऐसे जातक से बहुत से विवाह होते है।

▪ बाली शुक्र की द्रष्टि सप्तम भाव पर हो तो भी ऐसे जातक से बहुत से विवाह होते है।

◾◾गुरुदेव मनीष साई के अनुसार उपाय-

▪ कुंडली में बहु विवाह योग बन रहा है यदि कन्या की कुंडली में है तो कन्या का विवाह हो चुका हो और वह विदा हो रही हो तो एक लोटे में गंगाजल, थोड़ी-सी हल्दी, एक सिक्का डाल कर लड़की के सिर के ऊपर 7 बार घुमाकर उसके आगे फेंक दें। उसका वैवाहिक जीवन सुखी रहेगा तथा बहु विवाह योग टलेगा।

▪किसी भी शुक्रवार की रात्रि में स्नान के बाद 108 बार स्फटिक माला से निम्न मन्त्र का जप करें-

“ॐ ऐं ऐ विवाह बाधा निवारणाय क्रीं क्रीं ॐ फट्।”

▪ यदि विवाह टूट गया है लड़के का और दोबारा विवाह करना चाहते हैं तो यह उपाय बहुत कारगर होगा इस उपाय से विवाह भी जल्दी होगा और बहु विवाह के योग टलेंगे लड़के के शीघ्र विवाह के लिए शुक्ल पक्ष के शुक्रवार को 70 ग्राम अरवा चावल, 70 सेमी॰ सफेद वस्त्र, 7 मिश्री के टुकड़े, 7 सफेद फूल, 7 छोटी इलायची, 7 सिक्के, 7 श्रीखंड चंदन की टुकड़ी, 7 जनेऊ। इन सबको सफेद वस्त्र में बांधकर विवाहेच्छु व्यक्ति घर के किसी सुरक्षित स्थान में शुक्रवार प्रातः स्नान करके इष्टदेव का ध्यान करके तथा मनोकामना कहकर पोटली को ऐसे स्थान पर रखें जहाँ किसी की दृष्टि न पड़े। यह पोटली 90 दिन तक रखें।

▪लड़की का विवाह हो चुका है, लेकिन वह टूट चुका है और पुनः विवाह करना चाहते हैं तो यह उपाय करे।लड़की के शीघ्र विवाह के लिए 70 ग्राम चने की दाल, 70 से॰मी॰ पीला वस्त्र, 70 पीले रंग में रंगा सिक्का, 7 सुपारी पीला रंग में रंगी, 7 गुड़ की डली, 7 पीले फूल, 7 हल्दी गांठ, 7 पीला जनेऊ- इन सबको पीले वस्त्र में बांधकर विवाहेच्छु जातिका घर के किसी सुरक्षित स्थान में गुरुवार प्रातः स्नान करके इष्टदेव का ध्यान करके तथा मनोकामना कहकर पोटली को ऐसे स्थान पर रखें जहाँ किसी की दृष्टि न पड़े। यह पोटली 90 दिन तक रखें। इस उपाय से विवाह भी होगा और बहु विवाह के योग भी टलेंगे।
▪ उज्जैन के मंगलनाथ मंदिर में मंगल की शांति कराएं।

▪ बहु विवाह योग निवारण तंत्र पूजा अमावस्या की रात्रि में कराएं।

▪ लड़की प्रत्येक शुक्रवार को माता लक्ष्मी या पार्वती जी की मांग में सिंदूर भरे तथा लड़के 3 माह में एक बार मंगलवार के दिन चमेली के तेल से हनुमान जी को चोला चढ़ाएं। ऐसा करने से बहु विवाह योग टलता है।
▪ बहु विवाह का योग टालने के लिए हमेशा घर की वायव्य दिशा में सोए।

🚩🚩साईं अन्नपूर्णा सोशल फाउंडेशन वेद और वैज्ञानिक रिसर्च के माध्यम से व्यक्ति के जीवन में होने वाली परेशानियों को दूर करने का प्रयास करता है संस्थान द्वारा विश्व की समग्र चिकित्सा पद्धतियों को एकजाई कर रेमेडियल वास्तु का निर्माण किया है इसमें व्यक्ति का जीवन, व्यक्ति का आचरण, व्यक्ति के ग्रहों का संतुलन और उसके जीवन से जुड़ी परेशानियों पर विस्तृत अध्ययन किया जाता है ।उसके बाद समाधान की प्रक्रिया शुरु होती है ।30 लाख के लगभग लोग संस्थान से जुड़े हैं जिनके जीवन में परिवर्तन आया है आप भी इस परिवर्तन का हिस्सा बन सकते हैं।

🔶🔶संपर्क करें-

साईं अन्नपूर्णा सोशल फाउंडेशन 156, सहयोग विहार शाहपुरा थाने के पास भोपाल (मध्य प्रदेश)

संपर्क- 09617950498
Whatsapp number- 7000632297
Website- www.gurumanishsai.com
🚩🚩 सबका भला हो सब सुख पाए

Leave a Comment